MSME Full Form in Hindi- एमएसएमई की फुल फॉर्म क्या है?

MSME Full Form in Hindi: MSME का मतलब सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम है। इसे भारत सरकार द्वारा 2006 के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास (MSMED) अधिनियम के समझौते में पेश किया गया था। इस अधिनियम के अनुसार, एमएसएमई वस्तुओं और वस्तुओं के उत्पादन, प्रसंस्करण या संरक्षण में शामिल उद्यम हैं।

MSME Full Form

एमएसएमई की फुल फॉर्मMinistry of Micro, small & Medium Enterprises” है, हिंदी में इसे सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय कहते है।

एमएसएमई वर्गीकरण

जुलाई 2020 से प्रभावी संशोधित वर्गीकरण के अनुसार, एमएसएमई को निम्नानुसार वर्गीकृत किया गया है:

  • सूक्ष्म उद्यम

– प्लांट और मशीनरी में निवेश 1 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए और टर्नओवर 5 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए

  • लघु उद्यम

– प्लांट और मशीनरी में निवेश 10 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए और टर्नओवर 50 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए

  • मध्यम उद्यम

– प्लांट और मशीनरी में निवेश 50 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए और टर्नओवर 250 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए

भारत सरकार द्वारा ‘आत्म निर्भर भारत अभियान ‘ में पेश की गई नई एमएसएमई परिभाषा के मुख्य अंश:

  • एमएसएमई को संपार्श्विक(Collateral) मुक्त ऋण।
  • एमएसएमई ऋण 3 लाख करोड़।
  • पेशकश की गई अधिस्थगन अवधि (Moratorium) 12 महीने है।
  • विनिर्माण और सेवा एमएसएमई को एक ही संस्था के रूप में माना जाएगा।
  • 48 महीने की चुकौती अवधि (Repayment Tenure)।
  • 100% क्रेडिट गारंटी।

भारत में एमएसएमई पंजीकरण

  1. MSME पंजीकरण udyamregistration.gov.in के सरकारी पोर्टल में करना होगा।
  2. एमएसएमई पंजीकरण प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन, कागज रहित और स्व-घोषणा पर आधारित है।
  3. MSME को पंजीकृत करने के लिए किसी दस्तावेज या प्रमाण को अपलोड करने की आवश्यकता नहीं है।
  4. रजिस्ट्रेशन के लिए सिर्फ आधार नंबर ही काफी होगा।
  5. पैन और जीएसटी से जुड़े विवरण सरकारी डेटाबेस से स्वचालित रूप से लिए जाएंगे।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.