ATM Full Form in Hindi- एटीएम के प्रकार

ATM Full Form in Hindi

ATM Full Form in Hindi: ATM की Full Form आटोमेटेड टेलर मशीन (Automated teller Machine) है, यह एक इलेक्ट्रो-मैकेनिकल मशीन है जिसमें स्वचालित बैंकिंग प्लेटफॉर्म होते हैं जो ग्राहकों को शाखा प्रतिनिधि या टेलर की सहायता के बिना सुचारू लेनदेन करने की अनुमति देते हैं। एक डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्डधारक अधिकांश एटीएम में नकदी निकालने में सक्षम होना चाहिए।

एटीएम एक लाभकारी मशीन हैं, जिससे ग्राहकों को नकद निकासी, जमा, बिल भुगतान और खाता-टू-खाता हस्तांतरण जैसे स्व-सेवा लेनदेन करने की अनुमति मिलती है। आमतौर पर बैंक द्वारा नकद निकासी के लिए शुल्क का भुगतान किया जाता है। इनमें से कुछ शुल्कों को एक एटीएम का उपयोग करके टाला जा सकता है जो सीधे खाता धारक बैंक द्वारा संचालित होता है। एटीएम को दुनिया के विभिन्न हिस्सों में एबीएम (Automated Bank Machines), या कैश मशीन के रूप में मान्यता प्राप्त है।

एटीएम के प्रकार

एटीएम के दो प्राथमिक प्रकार हैं। बेसिक ATM ग्राहकों को नकदी निकालने और अकाउंट बैलेंस प्राप्त करने की अनुमति देता हैं। दूसरे प्रकार के एटीएम अधिक जटिल मशीनें होती है जो नकदी निकालने, कैश जमा करने, बिल भुगतान और पैसे स्थानांतरण की सुविधा देती हैं।

ATM के मुख्य पार्ट्स

यद्यपि प्रत्येक एटीएम का डिज़ाइन अलग-अलग होता है, लेकिन ये सभी पार्ट्स सब में कॉमन होते हैं:

  • कार्ड रीडर: यह हिस्सा कार्ड के सामने चिप या कार्ड के पीछे चुंबकीय पट्टी को पढ़ता है।
  • कीपैड: कीपैड का उपयोग ग्राहक द्वारा व्यक्तिगत पहचान संख्या (पिन), आवश्यक लेनदेन के प्रकार और लेनदेन की राशि सहित इनपुट जानकारी के लिए किया जाता है।
  • कैश डिस्पेंसर: मशीन में एक स्लॉट के माध्यम से पैसे भेजे जाते हैं, जो मशीन के निचले भाग में एक तिजोरी से जुड़ा होता है।
  • प्रिंटर: यदि आवश्यक हो, तो उपभोक्ता रसीद का अनुरोध कर सकते हैं जो प्रिंटर से मुद्रित होती हैं।
  • स्क्रीन: एटीएम पर लगी स्क्रीन के माध्यम से उपभोक्ता खाते से जुडी जानकारी, लेनदेन को संचालित करता है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.